punjab crisis timeline: know timeline of punjab political crisis when what happened सिद्धू के पद छोड़ते ही पंजाब सरकार व संगठन में इस्‍तीफों की झड़ी, जानें कब-क्‍या हुआ

हाइलाइट्स

  • नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस अध्‍यक्ष पद से दिया इस्‍तीफा
  • सिद्धू के समर्थन में पंजाब सरकार और संगठन में हो रहे इस्‍तीफे
  • दो कैबिनेट मंत्री रजिया सुल्‍ताना और परगट सिंह ने भी छोड़ा पद

चंडीगढ़
नवजोत सिंह सिद्धू के पंजाब कांग्रेस अध्‍यक्ष पद से इस्‍तीफा देने के बाद राज्‍य की सियासत में भूचाल आ गया है। सिद्धू के समर्थन में एक-एक करके मंत्रियों और संगठन के नेताओं ने इस्‍तीफा देना शुरू कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सिद्धू के घर पर महत्‍वपूर्ण मीटिंग चल रही है, जिसमें उनके गुट के नेता मौजूद हैं। कयास लगाया जा रहा है कि पंजाब सरकार और संगठन से अभी और कई विकेट गिरेंगे।

  • दोपहर 1.00 बजे – सिद्धू ने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर पंजाब कांग्रेस अध्‍यक्ष पद से दिया इस्‍तीफा।
  • शाम 7.00 बजे- पंजाब काग्रेस कमिटी के कोषाध्यक्ष गुलजार इंदर चहल ने भी पद छोड़ दिया।
  • शाम 7.20 बजे- पंजाब कैबिनेट की मंत्री रजिया सुल्ताना का इस्‍तीफा। सुल्ताना सिद्धू के सलाहकार पूर्व DGP मोहम्मद मुस्तफा की पत्नी हैं।
  • शाम 7.25 बजे- परगट सिंह ने भी इस्तीफा देकर कांग्रेस सरकार को दिया झटका। शिक्षा मंत्री बनाए गए थे परगट।
  • शाम 7.30 बजे- योगिंदर ढींगरा ने पंजाब कांग्रेस के महासचिव पद से इस्तीफा दिया।
  • शाम 8.30 बजे- गौतम सेठ ने पंजाब कांग्रेस के महासचिव (प्रभारी प्रशिक्षण) का पद छोड़ दिया

…पर कांग्रेस की सेवा करते रहेंगे सिद्धू
सिद्धू ने सोनिया गांधी को लिखे अपने पत्र में कहा था- ‘किसी भी व्यक्ति के व्यक्तित्व में गिरावट समझौते से शुरू होती है, मैं पंजाब के भविष्य और पंजाब के कल्याण के एजेंडे को लेकर कोई समझौता नहीं कर सकता हूं। इसलिए, मैं पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देता हूं। कांग्रेस की सेवा करना जारी रखूंगा।’

Congress Crisis In Punjab: पंजाब कांग्रेस को झटका, सिद्धू के समर्थन में रजिया सुल्ताना और परगट सिंह समेत कईयों का इस्‍तीफा
गूंगा अध्‍यक्ष बनकर नहीं रहना चाहते सिद्धू: खैरा
इस बीच, कांग्रेस विधायक सुखपाल सिंह खैरा ने सिद्धू से इस्‍तीफा वापस लेने की अपील की है। मीडिया से बातचीत में खैरा ने कहा- ‘नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब में भ्रष्टाचार के खिलाफ स्टैंड लिया था। अगर उनके सुझावों पर ध्यान नहीं दिया गया, तो वह एक गूंगा पार्टी अध्‍यक्ष नहीं बनना चाहेंगे। हम उनसे इस्तीफा वापस लेने और उनकी शिकायतें दूर करने के लिए आलाकमान से अनुरोध करते हैं।’

सिद्धू के समर्थक देने लगे इस्‍तीफा

सिद्धू के समर्थक देने लगे इस्‍तीफा