delhi rto faceless service: दिल्ली सरकार के ‘फेसलेस’ सेवा का दिखा दम, 45000 लोगों ने लर्निंग लाइसेंस का उठाया फायदा – delhiites are taking advantage of faceless service, know how to get license made sitting at home

नई दिल्ली।
दिल्ली में सरकार की तरफ से अगस्त में एक सेवा शुरू की गई थी, जिसका नाम है फेसलेस सेवा। इसके जरिए दिल्लीवासी घर बैठे अपना ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने या वाहन संबंधित अन्य डॉक्यूमेंट्स के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसी क्रम में दिल्ली सरकार के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने एक बयान में कहा कि अगस्त के मध्य में शुरू की गई ‘फेसलेस’ सेवा के जरिए 45,000 से अधिक दिल्लीवासियों ने ”लर्निंग लाइसेंस” सेवा का फायदा उठाया।

परिवहन मंत्री ने समीक्षा बैठक के बाद ट्वीट किया, उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि फरवरी के बाद से दिल्ली परिवहन विभाग की फेसलेस सेवा के अंतर्गत 92 फीसदी से अधिक वाहन चालक लाइसेंस संबंधित आवेदनों और 80 फीसदी अन्य आवेदनों का निपटारा किया गया। वहीं, एक बयान में ये भी बताया गया कि परिवहन विभाग ने फरवरी 2020 से 30 सितंबर, 2021 के बीच समाप्त होने वाले फिटनेस, परमिट, वाहन चालक लाइसेंस से संबंधित दस्तावेजों की वैधता 30 नवंबर तक बढ़ा दी है।

गहलोत ने बैठक में उपस्थित अधिकारियों को फेसलेस सेवाओं से संबंधित तकनीकी मुद्दों, लंबित मामलों और शिकायतों के समाधान की प्रक्रिया में तेजी लाने का निर्देश दिया। विभाग ने बयान में कहा, “मंत्री ने यह सुनिश्चित करने के लिए भी कहा कि परिवहन सेवाओं का उपयोगकर्ता अनुभव सुखद हो और पूरे देश में सार्वजनिक सेवा वितरण में एक बेंचमार्क स्थापित करना चाहिए।”

फरवरी में फेसलेस सेवाओं की चरणबद्ध शुरुआत शुरू होने के बाद से, विभाग को 2,16,835 वाहन-संबंधी आवेदन और ड्राइविंग लाइसेंस-संबंधी सेवाओं के 2,08,224 आवेदन प्राप्त हुए। बयान में यह भी बताया गया कि कि इन आवेदनों में से 92 फीसदी ड्राइविंग लाइसेंस से संबंधित और 79.9 फीसदी वाहन संबंधी अन्य आवेदनों को 27 सितंबर तक मंजूरी दी गई थी।