गोरखपुर में पुलिस पर कारोबारी को पीट कर मार डालने का आरोप, वायरल VIDEO से बड़े अफसरों पर उठे सवाल

कानपुर के व्यापारी मनीष गुप्ता की मौत पर यूपी पुलिस की कार्रवाई और सवालों में घिर गई है। मनीष गुप्ता की मौत का आरोप परिजनों ने पुलिसकर्मियों पर लगाया है। इस केस में यूपी पुलिस के अधिकारियों के साथ पीड़ित परिवार की मीटिंग का एक वीडियो अब वायरल हो रहा है।

गोरखपुर में कानपुर के एक व्यापारी की मौत के बाद यूपी पुलिस सवालों में घिरी हुई है। परिजनों का आरोप है कि व्यापारी को पुलिस वालों ने पीट-पीट कर मार डाला है। अब इस मामले में एक वायरल वीडियो ने यूपी पुलिस के बड़े अधिकारियों पर भी सवाल खड़े कर दिए हैं।

कानपुर के एक 38 वर्षीय प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता की मंगलवार तड़के गोरखपुर में एक होटल में मौत हो गई। आरोप लगा उन पुलिस कर्मियों पर जो कमरे में अपराधियों की तलाश करने का दावा कर घुसे थे। इन पुलिसकर्मियों द्वारा कथित रूप से हमला करने के बाद ही मौत हो गई।

इस मामले जब विवाद बढ़ा तो प्रशासन ने 6 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया। इसी दौरान मनीष गुप्ता के परिवार के साथ डीएम और एसएसपी ने मीटिंग की। वहां उन्होंने जो कहा वो यूपी पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े कर रहा है।

एक वायरल वीडियो में परिजनों से अधिकारी ने कोर्ट में मामले लंबे चलने की बात कही है। साथ ही पुलिस के बात करने के लहजे पर भी सवाल उठ रहा है। इस वीडियो के बाहर आने के बाद से अब यूपी पुलिस की आलोचना हो रही है।

मामले पर जानकारी देते हुए गोरखपुर के एसपी विपिन टाडा ने एक बयान में कहा कि अपराधियों की तलाशी के दौरान रामगढ़ताल थाने की पुलिस एक होटल में गई थी। एक कमरे में अलग-अलग शहरों के तीन संदिग्ध युवक ठहरे हुए थे। पुलिस टीम जब होटल मैनेजर के साथ वहां गई तो दहशत में कमरे में मौजूद एक व्यक्ति गिरकर घायल हो गया। इसके बाद पुलिस ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसका इलाज किया गया। बीआरडी अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। डॉक्टरों का एक पैनल पोस्टमार्टम करेगा। तीनों लोग यहां क्यों थे, इसका पता लगाने के लिए जांच की जाएगी।

इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी ने कहा कि मेरे पति किसी काम से गोरखपुर गए थे। उन्होंने दो अन्य लोगों के साथ एक होटल में एक कमरा बुक किया था। ये लोग मेरे पति से व्यापार के सिलसिले में मिल रहे थे। बाद में उन्होंने मुझे बताया कि मेरे पति को पुलिसकर्मियों ने बहुत बुरी तरह पीटा था।